भोपाल

बिना पूर्व इत्तला के उजाड़ दिया प्रशासन ने दलित का घर, फसल को भी कर दिया तबाह

भोपाल

सीहोर। अल्हादाखेड़ी पहुंचकर सूने दलित के घर को गुरूवार दोपहर में प्रशासन ने निशाना बना दिया। बिना पूर्व इत्तला के गरीब के घरोंदे को जेसीबी मशीन से नेस्तानाबूत कर दिया। प्रशासन का अमला यही नही रूका घर के पीछे खेत में खड़ी सोयाबीन की फसल और फल फूलदार वृक्षों सहित कृषि उपयोगी सामग्री को भी जेसीबी मशीन चलाकर तबाह कर दिया।

ग्राम अल्हादाखेड़ी में निवासरत हरि प्रसाद मालवीय पुत्र देवा जी अपने पुत्र संतोष, निर्दोष के साथ बीते कई सालों से इछावर रोड डाईड के पास स्थित भूमि पर कृषि कार्य कर अपने परिवार का पालन पौषण कर रहे है। भूमि को लेकर कोर्ट में विवाद चला है न्यायालय आयुक्त भोपाल कोर्ट ने हरि प्रसाद के पक्ष में हीं निर्णय सुनाया है। तत्कालीन एसडीएम सीहोर ने भी जांच में केशव कुमार पुत्र गेंदालाल को कूट रचित दस्तावेज बनाने का दौषी पाया गया था जिस के प्रमाण फरियादी के पास मोजूद है।

ग्राम पंचायत अल्हादाखेड़ी के द्वारा भी लिखित में हरि प्रसाद को भूमि का कब्जादार बताया है बावजूद इस के गुरूवार को नायब तहसीलदार शैफाली जैन, पटवारी निलेश यादव गिरदावर सहित राजस्व अमले और पुलिस के साथ पहुंचे और सूने मकान को जेसीबी मशीन चलाकर गिरा दिया। इस समय पीडि़त हरि प्रसाद का परिवार गांव में की जा रही सत्ताजी में शामिल होने गया था वापस आकर देखा तो परिवार की महिलाओं के पेरो के नीचे से जमीन ही खिसक गई। हरि प्रसाद की पत्नि ललता बाई ने काम पर गए बेटे संतोष और निर्दोष को मोबाईल के जरिया मकान गिराने और खेत में खड़ी सोयाबीन की फसल सहित संतरे नीबूं अमरूद आम के वृक्षों को तोड़े जाने की सूचना दी।
पीडि़त हरि प्रसाद मालवीय ने बताया की गांव का चौकीदार श्यामलाल पुत्र गनपत जमीन को जबरन अपनी बताता है। केशव भी भूमि पर अपना दावा जता रहा था। उन्होने कहा की बीते पचास सालों से इस भूमि पर हम खेती कर रहे है मकान भी हमारा था तहसील में मामला विचाराधीन है। प्रशासन ने  बिना पूर्व सूचना के मकान तोड़ दिया है परिवार के सदस्य अब सड़क पर आ गए है। हरि प्रसाद ने कहा की अगर सरकार के द्वारा संबंधित राजस्व अधिकारियों पर सख्त कार्रवाहीं नही की जाती है तो परिवार के साथ जहर खाकर जीवनलीला समास्त करने के लिए विवश होंगे।

Follow Us On You Tube